Tuesday, July 16, 2024
HomeअपराधHimachal News: STF को मिली बड़ी सफलता, 1.98 करोड़ की नशीली टेबलेट...

Himachal News: STF को मिली बड़ी सफलता, 1.98 करोड़ की नशीली टेबलेट और 40 किलो कच्चा माल बरामद

Himachal News: STF को मिली बड़ी सफलता, 1.98 करोड़ की नशीली टेबलेट और 40 किलो कच्चा माल बरामद

- Advertisement -

India News HP (इंडिया न्यूज़),Himachal News: एसटीएफ ( STF) को बड़ी सफलता हाथ लगी है।  टीम ने अपने छह दिवसीय अभियान के दौरान हिमाचल प्रदेश के बद्दी में एक फार्मास्युटिकल फर्म से अल्प्राजोलम की 1.98 करोड़ नशीली गोलियों के अलावा मातक पदार्थ बनाने में इस्तेमाल होने वाला 40 किलोग्राम कच्चा रसायन बरामद किया है। डीएसपी वविंदर महाजन के नेतृत्व में एक एसटीएफ टीम फर्म के रिकॉर्ड की जांच के लिए बद्दी में डेरा डाले हुए थी।

पुलिस के मुताबिक रिकॉर्ड की जांच के दौरान पता चला कि बायोजेनेटिक ड्रग प्राइवेट लिमिटेड को मई 2023 में अल्प्राजोलम बनाने का लाइसेंस मिला था। मिली जानकारी के मुताबिक कंपनी के पास कच्चे रसायन खरीदने और नशीली गोलियां बनाने का रिकॉर्ड है, लेकिन यह इसकी आगे की बिक्री और आपूर्ति के संबंध में रिकॉर्ड पेश करने में विफल रही।

जब्त किए गए रिकॉर्ड के अनुसार, कंपनी ने मई 2023 से दिसंबर 2023 तक केवल आठ महीनों में 20 करोड़ से अधिक अल्प्राजोलम टैबलेट का निर्माण किया था। अल्प्राजोलम का नशे के आदी लोग आमतौर पर नशे के लिए दुरुपयोग करते हैं। पुलिस अधिकारी ने कहा कि फर्म से जब्त किए गए 40 किलोग्राम कच्चे माल के साथ, कंपनी आठ करोड़ टैबलेट का निर्माण कर सकती है जो अंततः खपत के लिए पंजाब पहुंचेगी।

ऑपरेशन का फैलाव पांच राज्यों में

कंपनी दिल्ली पुलिस के विशेष सेल के रडार पर भी आई, जिसने राष्ट्रीय राजधानी में उसी ब्रांड की लगभग सात लाख अल्प्राजोलम गोलियां जब्त की थीं। पुलिस ने कंपनी के अधिकारियों को जांच में शामिल होने के लिए बुलाया था। पुलिस अधिकारी ने कहा कि रैकेट की आगे की जांच के दौरान और भी खुलासे होने की संभावना है। पिछले तीन महीनों से, एसटीएफ अवैध मादक पदार्थों के निर्माण और आपूर्ति में शामिल अंतरराज्यीय रैकेट की जांच कर रही थी।

यह ऑपरेशन पांच राज्यों में फैला हुआ है जिसमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र शामिल हैं। पुलिस ने कुल सात ड्रग तस्करों और आपूर्तिकर्ताओं को गिरफ्तार किया है और 70.42 लाख नशीली गोलियां और कैप्सूल, 725.5 किलोग्राम नशीला ट्रामाडोल पाउडर और बरामद किया है।

Also Read- Himachal Politics: CM सुक्खू के निशाने पर कांग्रेस छोड़ BJP ज्वाइन करने वाले बागी विधायक, तैयार किया ये प्लान

4.24 लाख रुपये ड्रग बरामत

एक खुफिया-आधारित ऑपरेशन में दो ड्रग तस्करों को गिरफ्तार किया गया, जिनकी पहचान तरनतारन जिले के कोट मुहम्मद खान गांव के निवासी सुखविंदर सिंह उर्फ धामी और अमृतसर के गोविंद नगर के निवासी जसप्रीत सिंह उर्फ जस के रूप में हुई। इस साल फरवरी में ब्यास से 4.24 लाख नशीली गोलियां/कैप्सूल और 1 लाख रुपये ड्रग मनी बरामद होने के बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

एसपी विशालजीत सिंह और डीएसपी वविंदर महाजन के नेतृत्व में एक एसटीएफ टीम ने रैकेट के सरगना एलेक्स पालीवाल को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर से गिरफ्तार कर लिया और उसके कब्जे से 9.04 लाख नशीले पदार्थ और 1.37 लाख रुपये ड्रग मनी बरामद की।

पालीवाल से पूछताछ के बाद जांच को हिमाचल प्रदेश तक बढ़ा दिया गया। फर्म के रिकॉर्ड से आपूर्ति श्रृंखला का पता महाराष्ट्र में मैसर्स एस्टर फार्मा तक चला, जहां आगे की जांच में बद्दी स्थित बायोजेनेटिक ड्रग प्राइवेट लिमिटेड की सहयोगी फार्मा विनिर्माण इकाई स्मिलैक्स फार्माकेम ड्रग इंडस्ट्रीज का खुलासा हुआ।

इसके बाद के ऑपरेशन में 47.32 लाख नशीले कैप्सूल और 725.5 किलोग्राम ट्रामाडोल पाउडर जब्त किया गया, जो 1.5 करोड़ कैप्सूल बनाने के लिए पर्याप्त था। रिकॉर्ड से पता चला कि स्मिलैक्स फार्माकेम ड्रग इंडस्ट्रीज ने एक साल के भीतर 6,500 किलोग्राम ट्रामाडोल पाउडर खरीदा था।

पुलिस अधिकारी ने कहा कि गोलियों और पाउडर के परिवहन और वितरण की समवर्ती जांच से इंतेज़ार सलमानी, प्रिंस सलमानी, बलजिंदर सिंह और सूबा सिंह सहित व्यक्तियों की गिरफ्तारी हुई, जिससे अंतरराज्यीय मादक पदार्थों की तस्करी के जटिल जाल का खुलासा हुआ।

Also Read- Shimla News: शिमला में दलित युवक से मारपीट, पेशाब किया; 5 गिरफ्तार

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular