Monday, July 22, 2024
HomeTrendingHealth Tips: वायरल फीवर और निमोनिया के बीच कैसे करें अंतर, ये...

Health Tips: वायरल फीवर और निमोनिया के बीच कैसे करें अंतर, ये है लक्षण

- Advertisement -

India News ( इंडिया न्यूज ) Health Tips: जैसे ही सर्दियां आती है वैसी ही कई बिमारियों की एंट्री हो जाती है। अभी फिलहाल देश के कई इलाकों में वायरल फीवर, फ्लू और निमोनिया जैसे बढ़ते मामले दिख रहे हैं। जिसमें सबसे बड़ी समस्या यह देखने को मिल रहे हैं कि तीनों ही बीमारी में खांसी-जुकाम और बुखार के लक्षण दिखते हैं। ऐसे में बहुत सारे लोग हैं जो इन बीमारियों की पहचान नही कर पाते हैं। हम आपको इसके लक्षण से संबंधित जानकारी देने जा रहै जिससे आप आसानी से निमोनिया की पहचान कर सकते हैं।

निमोनिया और फ्लू में क्या है फर्क

1.डॉक्टर के मुताबिक , फ्लू और निमोनिया में सबसे बड़ा अंतर सांस से जुड़ा है। बता दें कि फ्लू होने से आपको सांस लेने में कोई परेशानी नही होगी, मगर आप निमोनिया के शिकर हैं तो इससे आपको सांस लेने में काफी परेशानी हो सकती है। साथ ही पूरे शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा कम हो जाती है।

2. वहीं फ्लू होने पर आपके सीने में दर्द नही होता, मगर निमोनिया में आपका सीना तेज दर्द करने के साथ खांसी में बलगम भी आ सकता है।

3. अगर आप निमोनिया के शिकार हैं तो इसमें आपको थकान, भूख में कमी और ठंडा पसीना आ सकता है। वहीं फ्लू में ठंडा पसीना नही निकलता।

4. फ्लू 3 से 4 दिन में आसानी से ही ठीक हो जाता है। मगर निमोनिया मरीज की हालत को पूरा बीगाड़ देता है। अगर समय पर इलाज न कराया गया तो इससे मौत भी हो सकती है।

निमोनिया और फीवर में क्या है अंतर

बता दें कि वायरल फीवर में हल्का बुखार, सांस लेने में तकलीफ या छाती में दर्द नही होता, ये किसी को भी हो सकता है। मगर निमोनिया ज्यादातर बच्चों और बुजुर्गों को ही होता है। जानकारी के अनुसार दो साल से कम उम्र के बच्चों के लिए यह खतरनाक हो सकता है।

Also Read: Anju: प्यार के लिए पाकिस्तान पहुंची अंजु की 132 दिन बाद…

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular