Friday, June 14, 2024
HomeBreaking Newsनाहन में बोले CM सुक्खू, ‘वोट के अधिकार को खरीदना चाहती है...

नाहन में बोले CM सुक्खू, ‘वोट के अधिकार को खरीदना चाहती है BJP’

- Advertisement -

India News HP (इंडिया न्यूज), Himachal Election: सिरमौर जिले के नाहन में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि बीजेपी लोगों का वोट का अधिकार खरीदना चाहती है। उन्होंने कहा कि आजादी के लंबे संघर्ष के बाद कांग्रेस पार्टी ने देशवासियों को वोट देने का अधिकार दिया, लेकिन अब बीजेपी वोटों का सौदा करना चाहती है। इसलिए जनभावनाओं का सौदा करने वाली पार्टी को एक जून को सबक सिखाने का समय आ गया है।

‘यह चुनाव धर्म और अधर्म के बीच है’

उन्होंने कहा कि अब प्रदेश की जनता कांग्रेस पार्टी की लड़ाई लड़ेगी क्योंकि ये चुनाव भविष्य की राजनीति की दशा और दिशा तय करेंगे। धनबल को जनता ही हरा सकती ह। सीएम ने आगे कहा कि यह चुनाव कोई सामान्य चुनाव नहीं है। यह चुनाव ईमानदारी और बेईमानी, सत्य और असत्य तथा धर्म और अधर्म के बीच है। हालाँकि अंत में जीत ईमानदारी और सच्चाई की ही होगी, यह तय है। उन्होंने कहा कि जब बीजेपी वोट से सत्ता हासिल नहीं कर पाई तो उसने नोटों के सहारे सत्ता हासिल करने की कोशिश की और राजनीतिक बाजार में छह विधायकों को खरीद लिया।

सीएम सुक्खू ने जताया राहुल गांधी का आभार

सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी को अपना नेता संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने उनके आदेशों का पूरी तरह से पालन किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी, जो देश के एक प्रधानमंत्री के बेटे और एक प्रधानमंत्री के पोते हैं, ने देश की एकता और अखंडता के लिए 4500 किलोमीटर की भारत जोड़ो यात्रा की। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने एक सामान्य परिवार से राजनीति में आये व्यक्ति को हिमाचल प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने का मौका दिया और सरकारी योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने के निर्देश दिये।

‘CM ने बीजेपी पर जमकर साधा निशाना’

राहुल गांधी ने कहा कि युवाओं को रोजगार मिलना चाहिए और महिलाओं का सम्मान होना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान कांग्रेस सरकार ने 1.36 लाख कर्मचारियों को पुरानी पेंशन दी। महिलाओं को 1500 रूपये पेंशन देकर उनके खातों में हर वर्ष 18000 रूपये की धनराशि जमा की जा रही है। विधवाओं के 27 वर्ष तक के बच्चों को निःशुल्क शिक्षा प्रदान की जा रही है और अनाथ बच्चों की देखभाल और शिक्षा का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन कर रही है। क्या यह अपराध है?

Also Read- Road Accident: भयानक बस दुर्घटना में ड्राइवर की मौत, एक घायल

Also Read-Road Accident: भयानक बस दुर्घटना में ड्राइवर की मौत, एक घायल

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular