Tuesday, June 25, 2024
Homeकिन्नौरMahakal Fire Incident: महाकाल मंदिर अग्निकांड पर मानवाधिकार आयोग का एक्शन, जानें...

Mahakal Fire Incident: महाकाल मंदिर अग्निकांड पर मानवाधिकार आयोग का एक्शन, जानें पूरा मामला

- Advertisement -

India News HP (इंडिया न्यूज़), Mahakal Fire Incident: महाकाल मंदिर में आग लगने की घटना देशभर में सुर्खियों में रही थी। अब मानवाधिकार आयोग ने इस पर जवाब मांगा है। पूछा गया है कि घटना वाले दिन यानी 25 मार्च 2024 को महाकाल मंदिर उज्जैन के गर्भगृह में भस्म आरती के लिए कितने व्यक्तियों को जाने की अनुमति थी और घटना के समय कितने व्यक्ति मौजूद थे। गर्भगृह के अलावा भस्म आरती के समय शेष व्यक्ति/भक्तगण आदि गर्भगृह के दरवाजे से कितनी दूरी पर थे। भस्म आरती के समय गर्भगृह में गुलाल किस प्रकृति का उपलबध कराया गया था और यह व्यवस्था किसके द्वारा की गई थी। गर्भगृह में भस्म आरती के समय गुलाल से आग किस प्रकार और किन परिस्थितियों में लगी थी।

Highlights

  • महाकाल मंदिर में अग्निकांड़ का मामला
  • गर्भगृह और उसके बाहर मौजूद कई लोग झुलसे
  • मानवाधिकार आयोग ने मांगा जवाब
  • इतनी बड़ी लापरवाही कैसे- मानवाधिकार आयोग

गर्भगृह में गुलाल से लगी ऐसी आग के कारण गर्भगृह और उसके बाहर मौजूद कितने व्यक्ति झुलसे। उन सभी का पूर्ण विवरण और इलाज एवं वर्तमान स्थिति के संबंध में स्पष्ट प्रतिवेदन। आग में झुलसे ऐसे सभी व्यक्तियों के इलाज आदि पर व्यय की महाकाल मंदिर प्रबंधन और मध्यप्रदेश शासन की ओर से क्या व्यवस्था की गई। आग से झुलसे ऐसे व्यक्तियों को महाकाल मंदिर प्रबंधन एवं मध्यप्रदेश शासन की ओर से कोई आर्थिक मुआवजा राशि दी गई है अथवा नहीं। गर्भगृह या उसके पास गुलाल के साथ ही बताए अनुसार प्रेशर पम्प या रंग उड़ाने वाली छोटी स्प्रेगन किन परिस्थितियों में पहुंची थी। क्या उन्हें मंदिर के अंदर लाए जाने की अनुमति मंदिर प्रबंधन समिति द्वारा दी गई थी।

Also Read:  Himachal: हिमाचल के इन जिलों में होगी भारी बारिश! जानिए अपने…

दोषी कोई भी हो होगी कार्रवाई – कलेक्टर

इस पूरे मामले में कलेक्टर नीरज सिंह का कहना था कि गुरुवार को मजिस्ट्रीयल टीम द्वारा जांच रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी, उसके बाद जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Also Read:  

भस्म आरती के दौरान कितने लोग रहते मौजूद (Mahakal Fire Incident)

प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग महाकालेश्वर मंदिर में भस्म आरती के दौरान हुई आगजनी की घटना ने कई सवाल खड़े कर दिए है। दरअसल इस वक्त भस्म आरती के दौरान नियम अनुसार कुछ ही लोग खड़े रहते है उसके बाद भी यहां पर लापरवाही बरती गई। महाकालेश्वर मंदिर समिति भी इस प्रश्न को लेकर मंथन करने में जुट गई है। भस्म आरती के दौरान गर्भगृह में मौजूद रहने को लेकर भी नियम बना हुआ है। इस नियम का पालन सभी को करना होता है। सोर्स बताते है कि जिस पुजारी की भस्म आरती होती है, वह अपने साथ तीन अन्य पुजारी को रखता है।

Also Read:  Lok Sabha Elections 2024: पंजाब में AAP को बड़ा झटका, BJP…

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular