Wednesday, June 19, 2024
HomeWeather UpdateJammu Kashmir Weather: घाटी में मौसम से बढ़ी आफत, भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर...

Jammu Kashmir Weather: घाटी में मौसम से बढ़ी आफत, भूस्खलन से जम्मू-श्रीनगर हाईवे बंद, स्कूल बंद

- Advertisement -

India News (इंडिया न्यज़),Jammu Kashmir Weather: जम्मू कश्मीर में मौसम हर दिन बदल रहा है। रामबन जिले में बारिश और तूफान के कारण करीब 150 घर और सरकारी इमारतें नष्ट हो गईं। बर्फबारी के कारण जम्मू-श्रीनगर हाईवे यातायात और श्रीनगर-लेह समेत कई मार्ग बंद हैं। ऊपरी इलाकों में हिमस्खलन की भी आशंका है। मौसम को देखते हुए परीक्षाओं की तारीख टाल दी गई है।

HIGHLIGHTS

  • जम्मू और श्रीनगर समेत निचले इलाकों में कुछ स्थानों पर बारिश और ओलावृष्टि हुई।
  • कई स्थानों पर सरसों और गेहूं की फसल को भी नुकसान हुआ है।
  • मौसम को देखते हुए आठवीं की परीक्षा स्थगित, आज भी सामान्य से भारी बारिश की संभावना।

जम्मू-कश्मीर में शनिवार को दूसरे दिन भी मौसम के हालात और गंभीर हो गए। कहीं मूसलाधार बारिश, भूस्खलन तो कहीं तेज तूफान ने भारी नुकसान पहुंचाया। अकेले रामबन जिले में ही बारिश और तूफान के कारण करीब 150 घर और सरकारी इमारतें नष्ट हो गई हैं। अनंतनाग में भी एक दर्जन मकान क्षतिग्रस्त हो गए। कठुआ जिले के बनी में छह कच्चे मकान ढह गए।

जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग यातायात के लिए बंद

साथ ही राजौरी जिले के कोटरंका रोड पर भारी बारिश की वजह से एक बड़ी चट्टान टूटकर बस पर गिर गई। छह यात्री घायल हो गए, जबकि अन्य यात्री बाल-बाल बच गए। रामबन जिले में कई स्थानों पर भूस्खलन और मलबा आने के कारण जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग यातायात के लिए बंद है। इसके चलते कश्मीर का देश के अन्य हिस्सों से सड़क संपर्क टूट गया है।

अगले 24 घंटों में ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश की संभावना है

वहीं, बर्फबारी के कारण श्रीनगर-लेह, राजौरी-पुंछ को कश्मीर से जोड़ने वाली मुगल रोड, सिंथनाप-किश्तवाड़ रोड, बांदीपोरा-गुरेज़ और कुपवाड़ा-तंगधार रोड भी बंद हो गई हैं। किश्तवाड़ जिले के हंजर नाला में हिमस्खलन के कारण दक्षिण-किश्तवाड़ मार्ग बंद हो गया है. इस बीच मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों के दौरान राज्य के अधिकांश इलाकों में मध्यम से भारी बारिश की भविष्यवाणी की है.

ऊंचे पर्वतीय इलाकों में हिमस्खलन की भी आशंका है. पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से शुक्रवार तड़के उच्च पर्वतीय इलाकों में बारिश शुरू हो गई। रात भर हुई बर्फबारी के बाद यह सिलसिला शनिवार को भी जारी रहा। इसके चलते गुलमर्ग में दो फीट, सोनमर्ग में दो फीट, दूधपथरी में एक फीट, सिंथनटॉप में दो फीट और गुरेज में दो फीट से ज्यादा बर्फबारी दर्ज की गई।

 जनजीवन प्रभावित हुआ

जम्मू और श्रीनगर समेत निचले इलाकों में कुछ स्थानों पर मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि से जनजीवन प्रभावित हुआ. कुछ स्थानों पर सरसों और गेहूं की फसल को भी नुकसान हुआ है। कटरा में वैष्णो देवी के लिए हेलीकॉप्टर सेवा बाधित रही. अनंतनाग के वेरीनाग, अचबल, दासून नामक गांवों में दोपहर में आए तूफान से एक दर्जन आवासीय घरों और दुकानों की टिन और लकड़ी की छतें उड़ गईं।

सात बिजली के खंभे भी क्षतिग्रस्त हो गये. वहीं, बनिहाल, गूल समेत रामबन के लगभग सभी हिस्सों में तेज हवा से लोगों के घरों, स्कूलों, स्वास्थ्य केंद्रों और सरकारी भवनों की लकड़ी और टिन की छतों से लेकर खिड़कियां और दरवाजे टूटने से भारी नुकसान हुआ है। रामबन के डिप्टी कमिश्नर बसीर उल हक ने गुरुवार को जानकारी दी कि करीब 150 घर और सरकारी इमारतें आंशिक और पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गई हैं।

Also Read: IMD Weather Alert: अगले 48 घंटे तक 10 राज्यों में मूसलाधार…

परीक्षाएं 20 मार्च से बढ़ाकर 26 मार्च कर दी गईं

इसी बीच उधमपुर के मोड़ पासी इलाके में एक ट्रक हाईवे पर फिसलकर पहाड़ी से टकरा गया, जिससे ड्राइवर की मौत हो गई. मौसम को ध्यान में रखते हुए सॉफ्ट जोन में कक्षा 8 की बोर्ड परीक्षाएं 5 मार्च से 13 मार्च तक और हार्ड जोन में ये परीक्षाएं 20 मार्च से 26 मार्च तक के लिए टाल दी गई है।

राज्य में ये सड़कें भी बंद: बर्फबारी के कारण श्रीनगर-लेह, मुगल रोड, सिंथनाप-किश्तवाड़ रोड, बांदीपोरा-गुरेज़ और कुपवाड़ा-तंगधार, दक्षिण-किश्तवाड़ रोड बंद हैं। कई जिलों में स्कूल बंद मौसम की स्थिति को देखते हुए प्रशासन ने डोडा, रामबन, रियासी जिलों के साथ-साथ उधमपुर जिले के चिनैनी, पंचैरी, बसंतगढ़, लाटी, डुडू और रामनगर के पहाड़ी इलाकों में स्कूल बंद रखे।

Also Read: Shimla Politics News: सुक्खू सरकार ने वीरभद्र गुट के दो विधायकों…

मौसम विभाग के मुताबिक

वहीं, मौसम विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटों में श्रीनगर में 23.3 मिमी, जम्मू में 6.7 मिमी और बनिहाल में 74.4 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो राज्य में सबसे ज्यादा है. इसी तरह श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 2.0, पहलगाम में 0.5, गुलमर्ग में न्यूनतम तापमान -2.0 और जम्मू में न्यूनतम तापमान 13.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उधमपुर और रामबन में सैकड़ों गाड़ियां रुक गईं

रामबन के मिहार, कैफेटेरिया मोड़, हिंगनी, किश्तवाड़ी पत्थर, दलवास समेत करीब एक दर्जन स्थानों पर मलबा और पत्थर गिरने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग सुबह करीब पांच बजे बंद हो गया। इसके चलते उधमपुर और रामबन में सैकड़ों वाहन रोक दिए गए। इससे वाहनों की लंबी कतारें लग गईं।

बारिश के बीच दिनभर हाईवे खोलने का काम चलता रहा, लेकिन लगातार बारिश के कारण रात तक हाईवे खोलने में सफलता नहीं मिल पाई। उधमपुर जिले में हाईवे पर कुछ इलाकों में पहाड़ से पत्थर गिरने से यातायात भी प्रभावित हुआ. हालांकि, श्रीनगर हवाई अड्डे पर विमानों की आवाजाही सुचारू रही। संबंधित अधिकारियों के अनुसार, सभी 42 निर्धारित उड़ानें निर्धारित समय पर रवाना हुईं।

नदी-नालों से दूर रहें: लगातार बारिश के कारण तवी और चिनाब समेत अन्य नदियों और नालों में आए उफान को देखते हुए जम्मू पुलिस ने लोगों को नदियों से दूर रहने की हिदायत दी है. पुलिस ने लोगों को आपात स्थिति में नजदीकी पुलिस स्टेशनों से संपर्क करने की सलाह दी है। इसके अलावा जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर यात्रा करने से पहले यातायात विभाग से संपर्क करें।

Also Read:  Nafe Singh Rathee Murder Case: नफे सिंह राठी हत्याकांड के आरोपियों…

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular