Sunday, June 16, 2024
HomeमौसमHimachal Weather Update: फिर बदले मौसम के तेवर! 3 हाइवे समेत 170...

Himachal Weather Update: फिर बदले मौसम के तेवर! 3 हाइवे समेत 170 सड़कें बंद, इन दिन से मिल सकती राहत

- Advertisement -

India News HP (इंडिया न्यूज़), Himachal Weather Update: अप्रैल का महीना शुरू हो चुका है. कुछ राज्यों में गर्मी का तापमान भी बढ़ गया है। गर्मी ने लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया है, लेकिन हिमाचल में बर्फबारी के कारण सड़कों की हालत अभी भी अच्छी नहीं है. भारी बर्फबारी के कारण यातायात बुरी तरह प्रभावित हो रहा है. वहीं बता दें कि, लाहौल-स्पीति का पर्यटन स्थल कोकसर पर्यटकों के लिए बहाल हो गया है. बर्फबारी के कारण सड़क बंद होने के कारण करीब तीन महीने तक पर्यटक कोकसर नहीं पहुंच पाए थे। शुक्रवार सुबह पर्यटकों की करीब 200 गाड़ियां मनाली से कोकसर के लिए रवाना हुईं।

इस दिन से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहा है

तीन दिन पहले सक्रिय हुए पश्चिमी विक्षोभ के कमजोर पड़ने से हिमाचल में बारिश नहीं हुई। हालांकि कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी भी हुई। मौसम विभाग के निदेशक सुरेंद्र पाल ने बताया कि 13 अप्रैल को पश्चिमी विक्षोभ काफी सक्रिय हो रहा है. इस दौरान भारी बारिश की संभावना है. अभी मौसम साफ रहेगा और तापमान में बढ़ोतरी होगी.

हालांकि, शुक्रवार को अधिकतम तापमान में करीब एक डिग्री सेल्सियस की गिरावट आयी. सिरमौर जिले के पांवटा साहिब का न्यूनतम तापमान 18 डिग्री सेल्सियस और देहरा गोपीपुर का 12 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। ऊना का अधिकतम तापमान 35.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया है. राज्य में अभी भी तीन एनएच समेत 170 सड़कें यातायात के लिए बंद हैं।

पर्यटकों के लिए 200 गाड़ियां भेजी गईं

वहीं, हिमाचल प्रदेश के कई जिलों में गुरुवार रात 9.34 बजे भूकंप के झटके महसूस किए गए. कांगड़ा, चंबा, लाहौल-स्पीति, मंडी और कुल्लू में झटके महसूस किए गए। रिएक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 5.3 और गहराई 10 किलोमीटर आंकी गई. मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना ने शुक्रवार को कहा कि चंबा के उपायुक्त और क्षेत्रीय आयुक्त पांगी से संपर्क कर स्थिति का आकलन किया गया.

शुक्रवार की सुबह, संभावित नुकसान का आकलन करने के लिए स्थानीय प्रशासन और कार्यकारी मजिस्ट्रेट, कानूनविदों, डॉक्टरों और पुलिस की टीमों को भेजा गया। स्थिति सामान्य है. बचाव दल पंचायतों में पहुंच गये हैं. मकानों की आंशिक क्षति की जांच कर विस्तृत रिपोर्ट तैयार की जा रही है और प्रावधान के मुताबिक प्रभावित परिवारों को राहत उपलब्ध करायी जायेगी.

Also Read: 

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular